गुरु ग्रह होगे प्रसन्न सफलता चूमेगी कदम

Share Now...

गुरु  नवग्रहों में सभी ग्रहों के “गुरु” है ,

“गुरु बिना ज्ञान कहाँ और ज्ञान बिना जीवन अधूरा सा है “

गुरु का स्थान परमेश्वर से भी ऊपर है

गुरु ग्रह को बृहस्पति के नाम से भी जाना जाता है,

ज्योतिष और नवग्रहों में सबसे अधिक शुभ ग्रह गुरु (बृहस्पति) को माना जाता है ,

हमारे जीवन मे गुरु का अदयाधिक महत्व बताया गया है,

कुंडली मे गुरु (बृहस्पति)  कमजोर होने पर जीवन मे कई प्रकार से अनावश्यक सहर्ष का सामना करना पड़ता है ।

माता-पिता और यहाँ तक कि परमेश्वर से भी ऊपर गुरु (बृहस्पति) को स्थान दिया गया है ।

गुरु अर्थात ज्ञान और ज्ञान बिना कुछ भी पाना असंभव सा है , गुरु (बृहस्पति) का मानव जीवन मे विशेष महत्व है ।

कुंडली में अगर गुरु (बृहस्पति) कमजोर अवस्था मे हो तो जातक को संतान , धन , धन-संपत्ति , बुद्धिमत्ता , शिक्षा ,श्रद्धा, अच्छे और आदर्श गुण, जीवन-साथी, समृ्द्धि , विश्वास, धार्मिक कार्यो जैसे अनेक सुखों से वंचित रहना पड़ता सकता है ।

गुरु (बृहस्पति) ग्रह को ज्योतिष , अध्यापकों, मार्गदर्शक, लेखक जैसे कई प्रकार के क्षेत्रों का कारक माना जाता है।

कुंडली मे गुरु बलवान अवस्था मे होने पर व्यक्ति को बैंक, आयकर, खंजाची, राजस्व, मंदिर, धर्मार्थ संस्थाएं, कानूनी क्षेत्र, जज, न्यायाल्य, वकील, सम्पादक, प्राचार्य, शिक्षाविद, शेयर बाजार, पूंजीपति, दार्शनिक, ज्योतिषी, वेदों और शास्त्रों का ज्ञाता होता है ।

ज्योतिष में गुरु की मुख्यतः दो राशि का स्वामित्व प्राप्त है धनु और मीन ।

गुरु चंद्रमा की राशि कर्क में उच्च के होते है और वही चंद्रमा के साथ होने पर या चंद्रमा से संबंध बनाने पर गजकेसरी राजयोग का निर्माण करते है ।

सूर्य को मजबूत करने के उपाय

गुरु ग्रह के कामजोर होने के प्रमुख ज्योतिषी लक्षण :-

1. कुंडली मे  गुरु ग्रह (बृहस्पति) कमजोर होने पर जातक नास्तिक हो जाता है , धर्म और धार्मिकता से दूरी बना लेता है ।

2. गुरु ग्रह (बृहस्पति) कमजोर होने पर ज्ञान की कमी होती है एवं शिक्षा में रूकावट देखी जाती है ।

3.कुंडली मे गुरु ग्रह (बृहस्पति) नीच या शत्रु राशि मे होने पर धन- संपति का सुख नहीं मिल पाता है ।

4. कुंडली मे गुरु ग्रह (बृहस्पति) के कामजोर होने पर मुख पर तेज़ नही रहता है और आँखों से संबंधित समस्या बनी रहती है ।

5. स्त्रियों के लिए दाम्पत्य सुख का कारक गुरु ग्रह को माना जाता है , गुरु कमजोर अवस्था में होने पर दाम्पत्य सुख में कमी देखी जाती है |

मानसिक अशांति होने के कारण और उनके उपाय

गुरु ग्रह को मजबूत करने के उपाय :-

1. एक वर्ष तक लगातार शुक्ल पक्ष के गुरुवार को केले ओर पीपल की सेवा करे। ( जल दे और संध्या काल मे दीपक लागए )

2. प्रतिदिन मस्तक पर केसर या हल्दी का तिलक लगाएं।

3. प्रतिदिन या गुरुवार को मंदिर अवश्य जाए।

4. तर्जनी में पुखराज धारण करे। ( कुंडली विश्लेषण करवाने के पश्चात)

5. प्रत्येक गुरुवार को पीली वस्तु का दान करे।

6. केले का दान करे गुरुवार को स्वयं केला ना खाएं।

7. प्रतिदिन माता पिता और अपने गुरु के चरण स्पर्श करें।

8. प्रतिदिन या प्रत्येक गुरुवार को कम से कम 1 माला (108 बार) गुरु मंत्र का जाप करे।
मंत्र :- ॐ बृं बृहस्पतये नमः

9. शिक्षा में रुकावट आ रही हो तो धार्मिक पुस्तकें, पेन, पेंसिल आदि का दान करे।

10. गुरुवार का व्रत रखें पीले वस्त्र पहन कर सात गुरुवार तक विष्णु सहस्रनाम का पाठ करें l ( संकल्प ले कर करे उपाय)

गुरु ग्रह को प्रबलता देने का मुख्य उपाय अपने से बड़े ,
माता-पिता एवं गुरु जनों का हमेशा आदर करना चाहिए
और प्रतिदिन मंदिर में भगवान के दर्शन करें
एवं किसी ना किसी तरह से मंदिर या धर्मस्थल में सेवा करनी चाहिए ।

व्यापार और वाणी के ग्रह बुध ग्रह को कैसे करे प्रसन्न

• संकल्प की विधि:-

• किसी भी उपाय को शुक्ल पक्ष में शुरू करे उस दिवस प्रातःकाल सूर्योदय के 1 घंटे के भीतर दाहिने हाथ मे जल और पूर्ण अक्षत ले।

   अपना नाम, गोत्र, वार, तिथि,दिशा, स्थान के देवता का नाम, ईष्ट देवता का नाम लेकर ,

   बोले मै इस उपाय को (अपना उपाय बोले) इस कार्य हेतु (अपना कार्य बोले) कर रहा हूँ।

    जिसका पूर्ण फल आप स्वयं को प्राप्त हो ऐसा बोलकर अहम करिष्यामि बोलते हुए जल जमीन पर छोड़ दे।

गुरु ग्रह के बताए गए उपाय में से कुछ उपाय करके
भी कुंडली में गुरु ग्रह को मजबूत कर सकते है एवं जीवन में आ रही परेशानियों को दूर कर सकते है ।
उपाय कम से कम 90 दिनों तक लगातार करे और उचित फल की कामना करे।

सेनापति मंगल ग्रह के कमजोर होने के कारण एवं उपाय:-

हम आशा करते है गुरु ग्रह के बारे मे जानकारी से आप संतुस्ट होगे ,
इस  अद्भुत  ज्ञान  और  महा उपाय  को  दुसरो  को  भी  शेयर  करे ।
आपका एक शेयर इस जानकारी और उपाय का अधिक से अधिक लोगो को लाभ पहुँचा  सकता  है।

 

 


Share Now...

9 Comments

  1. आपके द्वारा दी गई जानकारी से इस संबंध में सही ज्ञान प्राप्त हुआ। धन्यवाद

3 Trackbacks / Pingbacks

  1. कला और भौतिक सुख के कारक शुक्र ग्रह को कैसे करे प्रसन्न - Astro scienceco % Remedies ( उपाय )
  2. जानिए न्यायाधीश शनि देव को प्रसन्न करने के 11 महा-उपाय
  3. राहु ग्रह से जुड़ी कुछ अनसुनी बाते और राहू ग्रह के उपाय

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*